Lockdown के बाद नेपाल लौट रहे नेपालियों को बॉर्डर पर रोका गया

Nepalis returning to Nepal after lockdown were stopped at the border

लखीमपुर खीरी

भारत मे कोरोना लाकडाउन से डरकर बडी संख्या मे बापस लौट रहे नेपालियो को नेपाल बार्डर पर नेपाल पुलिस ने रोका जांच बाद दिया प्रवेश

बसंत कुमार मांझी/ आदेश शर्मा जिला ब्यूरो जनपद लखीमपुर खीरी

भारत नेपाल सीमा से सटे नेपाल के खकरोला बार्डर पर आज रवि बार 21 मार्च सुबह लगभग साढे चार सौ नेपाली नागरिको को जो कि भारत के बंगलौर , दिल्ली ,गुजरात, आदि शहरो से बापस नेपाल अपने घर लौट रहे थे, उनको नेपाल के खकरौला वार्डर स्थित नेपाली स्वास्थ्य विभाग की वीओपी के पास नेपाल पुलिस द्वारा नेपाल प्रवेश से रोके जाने के बाद प्रवासी नेपाली नागरिको मे रोष फैल गया.

स्थित विस्फोटक बनने से पूर्व नेपाल पुलिस की खकरौला वीओपी के प्रमुख ने मौके पर पहुंच कर सभी नेपाली नागरिको को स्वास्थ्य जांच कराने सी अपील कर जांच उपरांत प्रवेश करने को कहा है. बताते चले जब से भारत मे कोरोना वायरस के तेजी पकड़े प्रसार के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूरे देश को एक दिवस लाक डाउन की घोषणा की है, तभी से इस घो के साथ ही बडी संख्या मे भारत मे काम कर रहे नेपाली कामगार हडबडा कर बापस अपने देश नेपाल की तरफ लौटने लगे हैं. इसी क्रम मे आज सुबह सात बजे लखीमपुर खीरी के तिकोनियां कस्बे के पास स्थित नेपाल बार्डर पर नेपाल स्वास्थ्य विभाग की खकरोला वीओपी पर लगभग साढे चार सौ नेपाली नागरिको ने नेपाल मे प्रवेश करने का प्रयास किया, जिनको नेपाल स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों ने नेपाली पुलिस के सहयोग से वहीं पर नेपाल के अंदर प्रवेश करने से रोक दिया गया.

इस घटना के बाद अपने घर बापस जाने बाले नेपाली नागरिको मे भारी असंतोष दिखाई देने लगा इस पर मौके पर मौजूद नेपाल की सशस्त्र पुलिस बल की खकरौला बार्डर वीओपी कैलाली के प्रमुख चंद्र देव भट्ट ने कहा कि किसी भी नेपाली नागरिक को घर लौटने पर प्रतिबंध लगाना मौलिक अधिकार के खिलाफ है क्योंकि यह लोगों को भारत से लौटने से रोकेगा जबकि वे विदेशी नागरिक नहीं है. वह नेपाली नागरिक हैं और उनको घर आने से नहीं रोका जा सकता और नही उनको रोका जा रहा है, सिर्फ स्वास्थ्य जांच कराने के बाद उनको स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों के अनुसार ही घर जाने दिया जायेगा.

टीकापुर नगर स्वास्थ्य शाखा के प्रमुख बाल बहादुर रावल के अनुसार जिन लोगों ने नेपाल प्रवेश से पूर्व जांच कराने से इनकार कर दिया था अब उन सभी को बार्डर पर नेपाली स्वास्थ्य जांच कैंप मे जांच उपरांत ही नेपाल मे प्रवेश कर अपने घर गांव जाने दिया जायेगा.
यदि किसी को संदिग्ध बीमार पाया जाता है तो उसे आगे की जांच व इलाज के लिये एम्बुलेंस से टीकापुर हास्पिटल भेजा जायेगा.

Related Post – 

Corona Virus को लेकर अलर्ट मोड में आई NDRF

Corona Virus को लेकर अलर्ट मोड में आई NDRF

Corona Virus : हमराह ने किया ग्रामीणों को जागरूक

ताजा खबरों के लिए HTN Live के Facebook Page को लाइक करें और Twitter पर फॉलो करें .

आप हमे अपने क्षेत्र की खबर हमारे व्हाट्स एप – 9889444727 या ईमेल- htnlivenews@gmail.com पर भेज सकते है .

 

Average Rating
0 out of 5 stars. 0 votes.

Leave a Reply

%d bloggers like this: